Saturday, April 13, 2024
HomeWorldChandrayaan-3 Moon South Pole Landing : भारत ने अंतरिक्ष में रचा इतिहास,...

Chandrayaan-3 Moon South Pole Landing : भारत ने अंतरिक्ष में रचा इतिहास, चांद के साउथ पोल पर उतरा विक्रम लैंडर

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

चंद्रयान 3 चंद्रमा लैंडिंग लाइव अपडेट: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने चंद्रमा पर इतिहास रचा है। चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर की चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग (चंद्रयान-3 मून साउथ पोल लैंडिंग) हो चुकी है। इसरो (ISRO) ने अपने सीधे प्रसारण में इसकी जानकारी दी है।

अंतरिक्ष जगत में भारत ने इतिहास रचा है। 24 अगस्त 2023 की यह तारीख भारत के इतिहास में गोल्डन कार्ड में दर्ज हो गई है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का मिशन चंद्रयान-3 सफल हो गया है। सॉफ्ट इंसेंटिव के द्वारा चंद्रमा से उतरा और चंद्रमा के सुदूर दक्षिणी और अंधेरे वाले क्षेत्र में पहुंचने वाले भारत के लिए यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि साबित हुई है, इसलिए भारत और इसरो (ISRO) के वैज्ञानिक ही नहीं, हर भारतवासी यही दुआ करता है कि आज यह मिशन हर हाल में सफल हो जाए और पूरे विश्व में भारत का डंका बजे।

संबंधित समाचार ~ चंद्रयान-3 चंद्रमा लैंडिंग आज लाइव अपडेट: 3 घंटे शेष! चंद्रयान-3 लाइव ट्रैक कैसे करें?

मिशन के सफल होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो की पूरी टीम को बधाई देते हुए खुशी जाहिर की है। इस दौरान उन्होंने अपनी एक किताब में कहा कि इस मिशन के बाद हर भारतीय सेना का गौरव प्राप्त हो गया है।

चंद्रयान 3 के चंद्रमा पर सफल लैंडिंग के बाद पीएम मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंद्रयान 3 के विक्रम लैंडर को चंद्रमा पर सफल लैंडिंग के बाद इसरो समेत पूरे देशवासियों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि मैं साइटिस्टों को कोटि-कोटि बधाई देता हूं। उन्होंन ने कहा, “भारत चंद्रमा के उस दक्षिणी ध्रुव पर पहुंच है जहां अभी तक कोई भी देश नहीं पहुंचा है। चंदा मामा बहुत दूर के हैं अब वो भी दिन आएंगे जब बच्चे की चंदा मामा एक यात्रा के हैं।”

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसरो को दी बधाई

चंद्रयान 3 के विक्रम लैंडर की चांद की सतह पर सफल प्रक्षेपण के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसरो के सभी जवानों और देशवासियों को बधाई दी हैउन्होंने कहा, “चंद्रयान-3 का सफल नरम प्रक्षेपण नए भारत की दृढ़ता और शक्ति का प्रदर्शन है। प्रधानमंत्री के दूरदर्शी नेतृत्व और इसरो के दिशा-निर्देश में उन्होंने दिखाया जो कोई नहीं कर सका। चंद्रमा का दक्षिणी ध्रुव अब तक दुनिया के सामने है।” के लिए असंभव था, लेकिन हमारे दूरदर्शन बैंड ने इसे संभव कर दिखाया है। वसुधैव कुटुंबकम् की पवित्र भावना के साथ मैं इसरो के सभी साथियों को इस सफलता के लिए बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

कांग्रेस ने दी इसरो को बधाई

चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान 3 के विक्रम लैंडर के सफल लैंडिंग पर कांग्रेस ने इसरो सहित सभी देशवासियों को बधाई दी– चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-3 के लैंडिंग पर इसरो सहित सभी देशवासियों को बधाई। भविष्य में अंतरिक्ष अनुसंधान की आवश्यकता को देखते हुए ही पंडित नेहरू ने इसरो की नींव रखी थी। उनके दूरदर्शिता का ही परिणाम है कि आज भारत पूरे विश्व में अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में नया कीर्तिमान स्थापित कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular