बड़ी खबर: विज्ञान ने भी माना हुआ था समुद्र मंथन, इस जगह मिले वैज्ञानिक प्रमाण…

वासुकी नाग के अवशेष: समुद्र मंथन की गाथा आप लोगों ने सुनी होगी हमारे पुरानी गाथाओं में इसका उल्लेख हमेशा ही दिया गया है लेकिन अब खबर सामने ऐसी आ रहे हैं कि मनोरंजन पर्वत पर लपेट गए वासुकी नाग के अस्तित्व को प्रमाणित करने के लिए जरूरी वैज्ञानिक आधार भी मिल चुका है. आईआईटी रुड़की के एक अहम संशोधन में गुजरात के कच्छ स्थित खदान में एक विशालकाय सर्प की रीड की हड्डी के अवशेष मिले हैं.

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

जी हां ऐसा बताया जाता है कि यह सांप के अवशेष 4.7 करोड़ वर्ष पुराने हैं जिस पर सांप की हड्डी के अवशेष मिले हैं वैज्ञानिकों ने भी वासुकी इंडेक्स नाम दिया है. इस पूरे मामले को लेकर वह वैज्ञानिकों का कहना है कि यह अवशेष धरती पर अस्तित्व में रहे हैं विशालतम सर्प के हो सकते हैं कच्छ स्थित पनंध्रो लिग्नाइट खदान में वैज्ञानिकों के द्वारा 27 अवशेष खोजे गए हैं जो कि सांप की रीड की हड्डी के हिस्से हैं.

मुकेश अंबानी को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, उनका जन्म भारत मे नही बल्कि इस मुस्लिम देश मे हुआ था,नाम सुनकर चोक जाओगे आप।

वासुकी नाग के अवशेष: आज वासुकी नाग होते तो बड़े अजगर की तरह दिखाई देते

इसमें कुछ ऐसी स्थिति में है जैसे जीवित अवस्था में सर्प विचारण के समय रहे होंगे वैज्ञानिकों के अनुसार तो यदि आज वासुकी नाग का अस्तित्व होता तो वह आज के बड़े अजगर की तरह दिखाई देता और जहरीला नहीं होता। यह खदान कच्छ के पनांधरा क्षेत्र में स्थित है और यहां से कम नमी वाली गुणवत्ता वाला कोयला (लिग्नाइट) निकाला जाता है। यह शोध साइंटिफिक रिपोर्ट्स जर्नल में प्रकाशित हुआ है।

शोध के मुख्य लेखक और आईआईटी रूड़की के शोधकर्ता देबजीत दत्ता ने कहा कि आकार को देखकर कहा जा सकता है कि वासुकी एक धीमी गति से चलने वाला सांप था, जो एनाकोंडा और अजगर की तरह अपने शिकार का गला घोंटकर उसे मार देता था।

जब पृथ्वी का तापमान आज की तुलना में बहुत अधिक था, तब यह साँप तटीय क्षेत्र के आसपास की दलदली भूमि में रहता था। यह सांप सेनोज़ोइक युग में रहता था, जो 65 मिलियन वर्ष पहले डायनासोर के विलुप्त होने के बाद शुरू हुआ था।

रीढ़ की हड्डी का सबसे बड़ा भाग साढ़े चार इंच का

वासुकी नाग की रीढ़ की हड्डी का सबसे बड़ा हिस्सा साढ़े चार इंच लंबा पाया गया है और वैज्ञानिकों के अनुसार विशालकाय सांप की बेलनाकार शारीरिक संरचना की गोलाई लगभग 17 इंच रही होगी।

इस तलाशी में सांप का सिर नहीं मिला है. दत्त का कहना है कि वासुकी कोई विशाल प्राणी रहा होगा, जो किसी ऊंचे स्थान पर अपना सिर टिकाकर शेष शरीर को अपने चारों ओर लपेट लेता होगा। तब यह दलदली भूमि में एक अंतहीन रेलगाड़ी की तरह चलती रही होगी। यह मुझे द जंगल बुक के विशाल नाग ‘का’ की याद दिलाता है।

वैज्ञानिक निश्चित नहीं हैं कि वासुकी का आहार क्या था, लेकिन उसके आकार को देखते हुए यह माना जाता है कि वह मगरमच्छ और कछुओं के अलावा व्हेल की दो आदिम प्रजातियों को भी खाता रहा होगा।

वासुकी मेडासॉइड साँप वंश का सदस्य था, जो लगभग 90 मिलियन वर्ष पहले जीवित था और लगभग 12,000 वर्ष पहले विलुप्त हो गया था। साँप की यह प्रजाति भारत से उत्पन्न हुई और दक्षिणी यूरेशिया और उत्तरी अफ्रीका तक फैल गई।

ये कार कंपनी देगी मात्र 3.47 लाख रु में इलेक्ट्रिक कार जो एकबार चार्ज करने पर 1200 Km दौड़ेगी।

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

3 thoughts on “बड़ी खबर: विज्ञान ने भी माना हुआ था समुद्र मंथन, इस जगह मिले वैज्ञानिक प्रमाण…”

  1. Fake news mat dala karo
    Deoghar dumka godda ke aaspas Jharkhand and Bihar me huwa tha samudra manthan aur Basuki Abhi mare nhi h ki tum jaise logo ko reedh ki haddi milne lagi murkh ho….koi bhi naag ko basuki Or sheshnag mat bna do ye shiv aur bhisnu ke sath me rahte h jo avinasi h pahle apne sanatan dharm ko samjho propaganda mat falawo

    Reply
  2. Whatever our believe and faith on sanatan is not fake absolutly scientific , one thing is very clear reincarnation is the fact mentioned in garudpuran but scientifically can not be proved but this is real , ref to 1938 santidevi case which is till mystry , another thing is very clear a temple was constructed 3500 years ago in kolhapur the idol laxmi mata get sun bath twice in a year ,it means that at the vedic era people knew vernolequinox , so samudra manthan was not fake

    Reply

Leave a Comment

एक AC को कितने साल तक करें इस्तेमाल? रिस्क हो सकता है ज्यादा समय तक AC का इस्तेमाल सानिया और शमी कर रहे शादी? जानें किसके पास कितनी दौलत इन तारीखों की जन्मी लड़कियां शादी के लिए होती परफेक्ट मैक्सी ड्रेस में सारा तेंदुलकर का नया लुक, नहीं हटेंगी इससे आपकी नजरे सोनाक्षी के होने वाले पति को दी पूनम ढिल्लों ने चेतावनी, बोली-याद रखना…