ये घर का मसाला है Sugar का रामबाण इलाज, सोख लेता है बॉडी की चीनी, जानें किस समय करना होता है सेवन….

ये घर का मसाला है Sugar का रामबाण इलाज, सोख लेता है बॉडी की चीनी, जानें किस समय करना होता है सेवन….: दालचीनी रसोई में मौजूद एक जादुई मसाला है जो खाने का स्वाद और सुगंध दोनों बढ़ा देती है। अगर दालचीनी का सेवन पेय पदार्थों और भोजन के साथ किया जाए तो इसका एक अलग ही स्वाद मिलता है। अक्सर लोग खाने में दालचीनी का सेवन दूध, चाय, लस्सी और इसका काढ़ा बनाकर करते हैं। इन सभी खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों में दालचीनी का सेवन स्वाद के साथ-साथ स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है।

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

दालचीनी डंडियों, पाउडर और छोटे टुकड़ों के रूप में उपलब्ध होती है। दालचीनी एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती है जो शरीर को ऑक्सीडेटिव क्षति से बचाती है। इसका सेवन करने से दिल की बीमारियों से बचाव होता है और दिल स्वस्थ रहता है। एक चम्मच दालचीनी पाउडर शरीर को संपूर्ण पोषण प्रदान करता है।

दालचीनी का सेवन करने से पाचन क्रिया बेहतर होती है और गैस व एसिडिटी से बचाव होता है। हृदय रोगियों के लिए यह मसाला बहुत उपयोगी है। एम्स के पूर्व सलाहकार और साओल हार्ट सेंटर के संस्थापक और निदेशक डॉ. बिमल झज्जर ने कहा कि औषधीय गुणों से भरपूर दालचीनी में ऐसे गुण हैं जो इसे मधुमेह के अनुकूल बनाते हैं।

अगर डायबिटीज के मरीज रोजाना इस मसाले का सेवन करें तो वे अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर सकते हैं और शरीर को बीमारियों से बचा सकते हैं। आइए एक्सपर्ट से जानते हैं कि दालचीनी का सेवन ब्लड शुगर को कैसे सामान्य रखता है और इसका सेवन कैसे किया जा सकता है।

GK Question: ऐसी कौन सी चीज है जो पपीता के साथ खाने से इंसान मर सकता है?

दालचीनी मधुमेह को कैसे नियंत्रित करती है?

दालचीनी का उपयोग सदियों से रक्त शर्करा को सामान्य रखने के लिए किया जाता रहा है। दालचीनी प्राकृतिक रूप से इंसुलिन का उत्पादन करती है और रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करती है। यह मसाला कार्ब्स के टूटने को भी धीमा करता है जो रक्त शर्करा को स्थिर रखने में मदद करता है। कई शोधों में यह बात साबित हो चुकी है कि दालचीनी के सेवन से फास्टिंग शुगर को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।

दालचीनी एंटीबायोटिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती है जो ब्लड शुगर को सामान्य करने में मदद करती है। यदि मधुमेह के रोगी रक्त शर्करा को सामान्य नहीं करते हैं, तो हृदय रोग का खतरा बढ़ सकता है। दालचीनी में पोटैशियम और मैग्नीशियम मौजूद होता है जो दिल की बीमारियों से बचाता है।

मधुमेह में दालचीनी का सेवन कैसे करें?

अगर डायबिटीज के मरीज दालचीनी का सेवन करना चाहते हैं तो इसकी डंडी को पीसकर इसका पाउडर बना लें। इस पाउडर को एक गिलास पानी में डालकर कुछ देर तक पकाएं और इसका सेवन करें। दालचीनी का काढ़ा बनाकर भी सेवन किया जा सकता है। मधुमेह के रोगी दूध और चाय के साथ भी दालचीनी का सेवन कर सकते हैं। दालचीनी का स्वाद और सुगंध दोनों ही चाय और दूध का स्वाद बढ़ा देंगे। मधुमेह के मरीज दालचीनी पाउडर को फलों के सलाद में भी मिला सकते हैं।

Lok Sabha Election 2024: जानें कितनी है रवि किशन की संपत्ति? लोक सभा चुनाव में खुल गया काला-चिटठा

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

अब मुठ्ठीभर नमक दिलाएगा आपको गर्मी से राहत,देगा गर्मी में सर्दी का अहसास। 140 करोड़ भारतीयों के लिए आई खुशखबरी अब बिना सिम कार्ड के चलेगा रॉकेट जैसी स्पीड से इंटरनेट, जाने कैसे। राधारानी पर दिए विवादित बयान को लेकर कथावाचक प्रदीप मिश्रा को संतो का फूटा गुस्सा, दिया आखरी अल्टीमेटम, बोले… सोने-चांदी के दामों में हुआ बड़ा उलटफेर, जानें क्या है नए दाम… Post Office Bharti: पोस्ट ऑफिस में लगने का सुनहरा मौका, बिना पेपर दिए हो रही सीधी भर्ती