31 मई तक कर लें ये काम नहीं तो ब्लॉक हो जाएगा आपका गैस सिलेंडर,भारत सरकार की तरफ से आया बड़ा अपडेट।

31 मई तक कर ले ये काम नही तो ब्लॉक हो जाएगा आपका गैस सिलेंडर,भारत सरकार की तरफ से आया बड़ा अपडेट। गैस कनेक्शन रखने वाले उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर है। अब गैस एजेंसियां फर्जी उपभोक्ताओं और बिचौलियों को पूरी तरह से खत्म करना चाहती हैं. छत्तीसगढ़ में वास्तविक उपभोक्ताओं की पहचान के लिए सत्यापन का कार्य तेजी से किया जा रहा है। सभी उपभोक्ता 31 मई तक एजेंसियों से अपना केवाईसी अवश्य करा लें।

यदि आपके पास संबंधित गैस एजेंसी में आपके गैस कनेक्शन खाते में केवाईसी नहीं है, तो 31 मई के बाद आपका गैस कनेक्शन ब्लॉक हो सकता है। इतना ही नहीं, आपको पहले मिल रही सब्सिडी भी बंद हो सकती है। इससे पहले कि ऐसा कुछ हो, तुरंत अपनी गैस कनेक्शन एजेंसी पर जाएं और अपना केवाईसी अपडेट करवा लें।

आगे चलकर बहुत दिक्कत हो सकती है

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से केवाईसी कराने का काम पिछले साल से किया जा रहा है. इसके बाद भी अब तक यह काम करीब 60 फीसदी ही पूरा हो सका है. ऐसे में पेट्रोलियम कंपनियों ने लोगों से 31 मई तक केवाईसी (E-KYC) कराने की अपील की है, जिसके बाद केवाईसी कराने वालों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है.

जून से सिलेंडर मिलने का खतरा

पेट्रोलियम कंपनियों ने कहा है कि वे उपभोक्ताओं पर सख्ती बरतेंगे. अगर 31 मई तक केवाईसी का काम पूरा नहीं हुआ तो जून महीने में इन उपभोक्ताओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. कंपनियों ने साफ कर दिया है कि वे इस काम को गंभीरता से लें, नहीं तो जून से सिलेंडर मिलने में दिक्कत होगी. केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय ने पिछले साल इस संबंध में आदेश जारी किया था.

इसमें कहा गया था कि जिन लोगों के नाम पर सिलेंडर है, उन्हें गैस एजेंसी में जाकर बताना होगा कि वे ही सिलेंडर ले रहे हैं। पहले इसके लिए कोई समय सीमा तय नहीं थी, लेकिन अब 31 मई तक का समय तय कर दिया गया है.

TATA ने लांच किया भारत का पहला Electric Truck, एक बार चार्ज करने पर चलेगा 161 KM, फोटो हुई वायरल।

सस्ता सिलेंडर नहीं मिलेगा

ई-केवाईसी करने के लिए गैस एजेंसियों में मशीनें भी लगा दी गई हैं। जहां उपभोक्ता के अंगूठे का निशान लिया जाएगा, वह उसी उपभोक्ता का होगा जिसके नाम पर गैस कार्ड बना है। केंद्र सरकार द्वारा जारी नए नियम के मुताबिक जो लोग ई-केवाईसी नहीं करा पाएंगे उनकी गैस सब्सिडी बंद कर दी जाएगी. इसलिए किसी भी तरह की समस्या से बचने के लिए KYC कराना अनिवार्य है.

उन्हें ब्लॉक कर दिया जाएगा

कृपया ध्यान दें कि फर्जी नामों वाले कनेक्शन अब ब्लॉक कर दिए जाएंगे। केंद्र सरकार ने इस संबंध में दिशानिर्देश भी जारी कर दिए हैं. नए नियम के मुताबिक जो लोग फर्जी दस्तावेज देकर सिलेंडर लेते थे उन्हें सिलेंडर मिलना बंद हो जाएगा. इन्हें तो ब्लॉक कर दिया जाएगा, इनकी ऑनलाइन बुकिंग भी ब्लॉक कर दी जाएगी।

नए नियम के मुताबिक यह साफ हो गया है कि अगर किसी घर में एक ही नाम के दो से ज्यादा सिलेंडर होंगे तो दूसरा सिलेंडर अपने आप ब्लॉक हो जाएगा. यानी एक घर में एक नाम का एक ही सिलेंडर मिलेगा।

उज्ज्वला कनेक्शन के नियम

अलग-अलग गैस एजेंसियों ने बताया कि उज्ज्वला योजना (PM Ujjvala yojana) के तहत एक बीपीएल सदस्य के खाते में 372 रुपये की सब्सिडी (Gas Subsidy) आती है, इसके अलावा आम लोगों को 61 रुपये की सब्सिडी वापस मिलती है. वर्तमान में छत्तीसगढ़ राज्य में प्रति सिलेंडर कीमत लगभग 991 रुपये है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को गैस एजेंसियों में जाकर अपना केवाईसी कराना अनिवार्य है।

इसके लिए उनके पास गैस उपभोक्ता संख्या, एड्रेस प्रूफ के लिए आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, लीज एग्रीमेंट, वोटर आईडी कार्ड आदि दस्तावेज होना अनिवार्य है। आपको बता दें कि बायोमेट्रिक सत्यापन के बाद बड़ा फायदा यह होगा कि कालाबाजारी नहीं होगी। सिलेंडर की खपत काफी हद तक कम हो जाएगी, जिससे जरूरतमंद लोगों को समय पर सिलेंडर उपलब्ध हो सकेगा।

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment