जालंधर में दिल्ली किसान आंदोलन पर लेखक बलबीर परवाना द्वारा लिखी दो किताबें जारी

Jat Gazette Web Team
1 Min Read

जालंधर के देश भगत यादगार हॉल में चल रहे मेला ग़दरी बबयान दा के दौरान सोमवार को ‘दिल्ली किसान आंदोलन’ पर लेखक बलबीर परवाना द्वारा लिखी दो पुस्तकों का विमोचन किया गया।

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

“ट्रॉली युग” और “378 दिन” शीर्षक वाली किताबें अब निरस्त किए गए तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के किसान मोर्चा को समर्पित हैं।

150 पन्नों के उपन्यास (ट्रॉली युग) में इसके लेखक बलबीर परवाना ने इस साल की शुरुआत में पंजाब विधानसभा चुनाव तक दिल्ली में पूरे किसान आंदोलन का वर्णन करने की कोशिश की है।

बलबीर परवाना ने कहा, “मैंने यह उजागर करने की कोशिश की है कि ‘दिल्ली मोर्चा’ ‘कृषि संकट’ का परिणाम था, जिसकी उत्पत्ति राज्य में खेती के ‘हरित क्रांति’ मॉडल में है।”

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

“ऐसे ‘मोर्चों’ के साथ, हमने कुछ चीजें (तीन कृषि कानून रद्द) कर दीं, लेकिन उससे आगे छोटे और सीमांत किसानों के जीवन में कोई बदलाव नहीं लाया जा सका, क्योंकि कृषि संकट जारी है, आत्महत्या हो रही है, कर्ज हैं दिन-ब-दिन बढ़ रहा है, ”बलबीर परवाना ने कहा, जिन्होंने 40 किताबें लिखी हैं।

Share This Article
हमे पत्रिका की पहचान है. चल रहे ट्रेंडिंग टॉपिक पर अच्छी पकड़ है. इस क्षेत्र में 7 साल का अनुभव होने के साथ SEO, Digital Marketing, Web Develop आदि की सम्पूर्ण जानकारी है. जाट गजट मनोरजन, गैजेट, ऑटोमोबाइल, ट्रेंड टॉपिक में माहिर है.
Leave a comment
close
क्रिकेटर मोहम्मद शमी ने सानिया मिर्जा से शादी करने पर तोड़ी चुप्पी?,दिया बड़ा बयान। शादी के इतने सालों बाद करीना कपूर खान और सैफ अली खान में शुरू हो गई खटपट?जाने वजह दो बार तलाकशुदा और दो बच्चों की माँ को डेट कर रहा है ये एक्टर?,मचा बवाल बॉयकॉट के बाद अब Airtel का दिमाग भी आया ठिकाने, लांच किया 28 दिनों का सबसे सस्ता रिचार्ज प्लान, जिसमे मिलेगा डेटा, कॉलिंग… सावन का महीने में भूलकर भी ना करे ये 5 गलती,72 सालों बाद बना है ये शुभ संयोग,भोलेनाथ की होगी असीम कृपा।