उदयपुर: गोगुंदा डबल मर्डर केस – तांत्रिक ने युवक-युवती से बनवाए शारीरिक संबंध, फिर फेवीक्विक उड़ेल कर बेरहमी से मौत के घाट उतारा

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

उदयपुर गोगुंदा डबल मर्डर केस: उदयपुर के गोगुंदा थाना क्षेत्र में हुए डबल मर्डर केस की गुत्थी पुलिस ने सुलझा दी है। लेकिन इस मर्डर केस में जो कुछ पता चला है वो रूह कंपा देने वाला है। इसे लेकर पुलिस ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए है। पुलिस ने डबल मर्डर में एक तांत्रिक को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि इसी ने मृतक प्रेमी जोड़े को मिलने के लिए बुलाया और फिर दोनों को जंगल में ले गया। यहां पर दोनों को एक साथ छोड़ दिया। इसके बाद जब दोनों कुछ देर बाद न्यूड होकर संबंध बनाने की कोशिश करने लगे तो उसी समय तांत्रिक वहां पर आ गया और दोनों पर कई सारी फेविक्विक छिड़क दी। इससे दोनों के शरीर में जलन होने लगी। हांलाकि कुछ देर तक युवक युवती ने अपने आप को छुड़वाने की कोशिश की, लेकिन तांत्रिक ने उसी समय उन पर चाकू से वार कर दिया और दोनों को मौत के घाट उतार दिया।

पुलिस ने आरोपी तांत्रिक भालेश कुमार पुत्र गणेश लाल निवासी थाना सागवाड़ा जिला डूंगरपुर हाल थाना प्रताप नगर उदयपुर को गिरफ्तार किया। आरोपी को कोर्ट ने पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। एसपी विकास शर्मा ने बताया कि 18 नवंबर को गोगुंदा थाना इलाके के केला बावड़ी के जंगलों में एक युवक और युवती की बिन कपड़ो की लाश मिली थी। युवक की पहचान थाना जावर माइंस निवासी चतर सिंह के पुत्र राहुल मीणा और युवती की पहचान मदार निवासी भूर सिंह की बेटी सोनू कवर के रूप में की गई। राहुल मीणा सरकारी स्कूल में पढ़ाता था। युवक-युवती दोनों ही शादीशुदा थे।

एसपी ने बताया कि मामला प्रेम प्रसंग का लग रहा था। जघन्य हत्याकांड के खुलासे के लिए एक टीम गठित की गई। सीसीटीवी और मिले साक्ष्यों के आधार पर संदिग्ध तांत्रिक भालेश कुमार को डिटेन किया गया। जिसने पूछताछ में हत्या करना स्वीकार कर लिया है।

उदयपुर गोगुंदा डबल मर्डर केस: राहुल के अवैध संबंध के बारे में पत्नी को बताया

आरोपी तांत्रिक भालेश कुमार ने बताया कि वह पिछले 7-8 साल से भादवी गुड़ा स्थित इच्छापूर्ण शेषनाग भावजी मंदिर में रहकर लोगों को दुख कष्ट निवारण के लिए ताबीज बना कर देता है। युवती सोनू कंवर और राहुल मीणा के परिजन भी इस मंदिर में आते जाते रहते हैं। मंदिर के दर्शन के दौरान ही राहुल और सोनू कंवर की दोस्ती हुई थी। राहुल अपनी पत्नी से झगड़ा किया करता था। पत्नी ने तांत्रिक से मदद मांगी तो तांत्रिक ने सोनू कवर से संबंधों के बारे में उन्हें बता दिया।

उदयपुर गोगुंदा डबल मर्डर केस: भक्तों को पता न चले इसलिए की हत्या की साजिश

परिजनों को संबंध बताने पर राहुल और सोनू नाराज हो गए। वे बार-बार तांत्रिक को बदनाम करने की धमकी दे रहे थे। भक्तों में बना बनाया नाम और पहचान खराब होने के डर से तांत्रिक ने दोनों को रास्ते से हटाने का प्लान बना लिया। इसके लिए उसने मार्केट से 50 के करीब फेविक्विक इकट्ठे कर ली।
तांत्रिक से सोशल मीडिया के माध्यम से जुडे हुए है कई नेता

एएसपी कुंदन कुवारिया ने बताया कि जब हमने तांत्रिक जोशी की सोशल मीडिया प्रोफाइल देखी तो उसके पास कई नेताओं के फोटो मिले, जो अक्सर राजनीति में सफल होने के लिए इससे अक्सर विशेष पूजा और हवन करवाया करते थे। मर्डर के दौरान तांत्रिक के अंगूठे और हाथ पैर भी फेवीक्विक लग गई थी, जिसे हटाने के प्रयास के दौरान उसके हाथ पर घाव हो गया था। तांत्रिक उस दिन के बाद से पट्टी बांधकर घूम रहा था। हालांकि उसने इस दौरान पूरी सतर्कता बरते हुए हाथों में ग्लब्स पहने थे, फिर भी ग्लब्स के फटने से उसके हाथों में फेवीक्विक लग गई थी। तांत्रिक के हाथ और पांव कई चोटे आई हैं। फेविक्विक हाथ में लगने से घाव बढ़ गया तो पट्‌टी बांधनी पड़ी। पैर पत्थर में मारते वक्त भी उसे चोट लग गई।

Leave a Comment