सौर ऊर्जा नीति-2022 को मिली मंजूरी, किसानों को सोलर पंप पर मिलेगी ज्यादा सब्सिडी

सरकार की ओर से किसानों के लिए कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है। इसके तहत किसानों को सब्सिडी दी जाती है। इस योजनाओं का लाभ लेकर किसान अपनी कृषि संबंधी अनेक जरूरतों को पूरा कर सकते हैं। इन योजनाओं में से एक योजना सोलर पंप योजना है। इसके तहत किसानों को सब्सिडी पर सोलर पंप उपलब्ध कराएं जाते हैं ताकि किसानों को सिंचाई कार्य में आसानी हो सके। इसी कड़ी में उत्तरप्रदेश सरकार की ओर से सौर ऊर्जा नीति 2022 के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इसके तहत अब किसानों को सोलर पंप पर लगाने पर पहले से अधिक सब्सिडी का लाभ मिल सकेगा। सोलर पंप अब 90 प्रतिशत तक सब्सिडी का लाभ किसानों को प्रदान किया जाएगा। इससे किसानों को अब सस्ती दर पर सिंचाई के लिए सोलर पंप उपलब्ध हाे सकेंगे। यदि आप यूपी से हैं और आप भी अपने खेत में सिंचाई के लिए सोलर पंप लगवाना चाहते हैं तो आपके लिए ये खबर काफी महत्वपूर्ण है। इसलिए इस खबर को अंत तक पढ़े और इसे आगे भी शेयर करें ताकि अधिक से अधिक किसान इस योजना से लाभान्वित हो सकें। आज हम ट्रैक्टर जंक्शन की इस पोस्ट में सोलर पंप योजना यूपी की जानकारी दे रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तरप्रदेश सरकार की ओर से सौर ऊर्जा नीति- 2022 के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। यह नीति जारी होने की तिथि से प्रभावी होगी। इसका लाभ किसानों को 5 वर्ष की अवधि तक अथवा राज्य सरकार द्वारा नई नीति अधिसूचित करने की अवधि से जो भी पूर्व हो, तक लागू रहेगी। मंत्रिपरिषद ने ( कुसुम सी -2) पृथक कृषि फीडर के सौरकरण हेतु 2,000 मेगावाट क्षमता संयंत्रों की स्थापना पर 50 लाख रुपए प्रति मेगावाट की दर से राज्य वी.जी.एफ. एवं (कुसुम सी-1) निजी ऑन ग्रिड पम्प के सोलरराइजेशन पर राज्य सरकार द्वारा मुसहर, वनटांगिया, अनुसूचित जनजाति के कृषकों को 70 प्रतिशत सब्सिडी एवं अन्य कृषकों को 60 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करने एवं नीति काल अवधि में 05 वर्षों में कुल 1,000 करोड़ रुपए के अनुदान की स्वीकृत दी है।

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment