Merta mandi ke bhav 15-11-22, मेड़ता मंडी में आज के ताजा भाव

Whatsapp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Merta mandi ke bhav 15-11-22, मेड़त मंडी में आज के ताजा भाव

यहां पर आपको आज का अनाज भाव  (Merta Mandi bhav today) मुंग, मोठ, चना, जीरा, गवार, इसबगोल, बाजरा, नरमा, कपास, सरसों, मूंगफली, गेहूं, जौ, मक्का, ज्वार, सोयाबीन, अरंडी, तारामीरा इत्यादि जींस की विभिन्न उपज मंडियों में होने वाली फसलों की बोली के आधार पर तैयार की हुई रेट (mandi ka bhav) दर्शाये जाते है।

इस वैबसाइट पर हमारी टीम आपको सुनिशित करवाती है कि यहाँ पर आपको अपने नजदीक मंडी मे अनाज के सही दाम (Mandi Bhav) जानने को मिले जाये।

मेड़ता कृषि उपज मंडी में जिंसों के भाव (प्रति क्विंटल) Merta City mandi ke bhav 15-11-22

 

मेड़ता कृषि उपज मंडी में जिंसों के भाव (प्रति क्विंटल)

कृषि जिंस का नाम न्यूनतम भाव (रुपए में) अधिकतम भाव (रुपए में)
मूंग 6000 7500
चना 4181 4351
ग्वार 4350 4900
जीरा 21050 23700
सुआ 8000 8601
सौंफ 10600 12401
रायड़ा 5800 6816
तारामीरा 5305 5383
इसबगोल 12600 15400
कपास 8800 9400
असालिया 7000 7700

 

मूंग के भाव आगामी दिनों में

आज हम बात करेंगे मूंग के भाव के बारे में मूंग के भाव में कुछ तेजी आई है। आगामी दिनों में मूंगफली के भाव और भी ऊपर जा सकते हैं। मूंग के भाव करीब 7300 से 7700 तक जा सकते हैं। अभी वर्तमान में मूंगफली के भाव 6000 से 7200 प्रति क्विंटल तक चल रहे हैं।

ग्वार के भाव आगामी दिनों में

आज हम बात करेंगे गवार के भाव के बारे में गवार के भाव में इन दिनों में तेजी आ रही है। तेजी आने का सबसे बड़ा कारण है शेयर बाजार में ग्वार के भाव में वर्द्धि होने के कारण मंडी के भावों में भी तेजी हुई। आगामी दिनों में ग्वार के भाव और भी ऊपर जा सकते हैं लेकिन यह सभी शेयर बाजार पर निर्भर है। विशेषज्ञों का कहना है कि गवार के भाव करीब 5100 से 5400 तक जा सकते हैं। अभी वर्तमान में ग्वार के भाव 4400 से 5000 प्रति क्विंटल तक चल रहे हैं।

कपास के भाव आगामी दिनों में

कपास के भाव इन दिनों तेजी आ रही है। जिसका सबसे बड़ा कारण शेयर बाजार में कॉटन की कीमतों में वृद्धि होना है। बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि कपास के भाव आगामी दिनों में करीब 10000 से ₹10100 तक जा सकते हैं। वर्तमान में कपास के भाव 8800 से लेकर ₹9780 तक बिक रही हैं। जो तेजी है वह 1 सप्ताह तक रहे सकती है। उसके बाद फिर से कपास में गिरावट आने की संभावना लग रही है।

Leave a Comment